श्री मृत्युंजयस्तोत्रम् के गुप्त दिव्य मंत्र

साधकों के लिये ये हैं श्री मृत्युंजयस्तोत्रम् के गुप्त दिव्य मंत्र जो जापकर्ता को अकाल मृत्यु से बचायेंगे… रुद्रं पशुपतिं

Read more

हिन्दू जीवन पद्धति – भाग २

***( भोजन संविभाग )*** सनातनहिन्दूधर्म में भोजन का भी संविभाग और विभेद विस्तार के साथ किया गयाहै।सर्वमन्ने प्रतिष्ठितम्,सर्वमन्न- मयं जगत्

Read more

हिन्दू जीवन पद्धति

जो व्यक्ति अपने चौबीस घण्टे की जिन्दगी को साध लेता है वह सफलहो जाता है,क्योंकि इसी चौबीस घण्टेमें क्रम पूर्वक

Read more

क्या जूठे भोजन से प्रेम बढ़ता है ?

जूठे भोजन से प्रेम तो नहीं बढ़ता ,हाँ रोग अवश्य हो सकते हैं । यहां तक हमने जूठे का अनुभव

Read more

मकर संक्रांति की महत्ता

“मकर संक्रांति का संबंध अँग्रेजी कैलेंडर की तिथि से न होकर सूर्य के रिलेटिव मोशन से है। इस संदर्भ में

Read more

मन, बुद्धि, चित्त, प्राण, तन्मात्राओं तथा इन्द्रियों में अंतर और इनका सम्बन्ध

नए नवेले अध्यात्म की ओर आने वाले लोगों को लगता है कि मन की शक्ति सबसे बड़ी है, जबकि ऐसा

Read more

क्या ईश्वर का अस्तित्व है ?

आज के अधिकतर युवाओं का यही प्रश्न होता है । वे प्रत्यक्ष को प्रमाण मानते हैं ,किन्तु वे ये नहीं

Read more

धर्म और मननुसार कर्म में अंतर समझें और शास्त्र मर्यादा का अतिक्रमण न करें

बहुत से लोग (विशेषकर आज के नए नवेले मनमौजे सम्प्रदायों वाले) ऐसी बातें करते हैं कि हमें तो सन्ध्या गायत्री

Read more

चैतन्य सूत्र

यदि तुम्हें यह ज्ञात है कि तुम्हें सब कुछ ज्ञात नहीं तो निश्चय ही तुममें सर्वज्ञता प्राप्त करने की क्षमता

Read more

महाकाव्य रामायणके प्रणेता महर्षि वाल्मीकि

महर्षि वाल्मीकिकी कहानी बडी अर्थपूर्ण है । सत्पुरुषोंकी संगतिमें आकर लोगोंकी उन्नति कैसे होती है, महर्षि वाल्मीकि इसका एक महान

Read more