अधिक पूजा पाठ करने वाले अधिक दुखी क्यों?

हमे मिलने वाले सुख या दुख का कारण भगवान नही अपितु हम ही हैं। हमारे कर्म ही हमें सुख दुख

Read more